ALL ब्रेकिंग क्षेत्रीय राज्य देश विदेश राजनीति मनोरंजन स्वास्थ्य
*खुशियों की दास्ताँ* *जिले में 750 से अधिक कोरेंटाइन लोगों को मिल रही है सभी मूलभूत सुविधाएँ* इंदौर 09 अप्रैल, 2020 राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों को कोरेंटाइन किया जा रहा है। अभी तक 750 से अधिक लोगों को कोरेंटाइन किया गया है। जिले में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है और संक्रमितों की संख्या भी बढ़ रही है। प्रशासनिक मशीनरी इस संक्रमण को रोकने के लिये मैदान में जुट गई है। संदिग्ध मरीजों को कोरेंटाइन कर इंदौर के आलीशान होटलों और मैरिज गार्डन में कोरेंटाइन किया गया है। उन्हें सभी मूलभूत सुविधाएँ मिल रही हैं। समय पर चाय-नाश्ता, भोजन दिया जा रहा है। साफ-सफाई का विशेष ध्यान दिया जा रहा है। जिला प्रशासन द्वारा होटल प्रेसीडेंट पार्क में 81, टीसीएल गार्डेन में 103, किंग्स पार्क गार्डेन में 27, मथुरा महल गार्डेंन में 67, गोकुल गार्डेन में 17, दस्तूर गार्डेन में 23, अक्षत गार्डेन में 36, ताराकुंज गार्डेंन में 25, मृदंग गार्डेन में 60, स्वास्तिक रिसोर्ट में 05, इंदौर इंस्टीट्यूट ऑफ लॉ मंड 75, श्री जी वाटिका में 13, गुरु अमरदास बैंक्येट हाल में 34, होटल रिजेंटा में 20, पुण्य गार्डेंन में 40, असरावदखुर्द होस्टल में 60 और हज हाउस सदर बाजार में 58 संदिग्ध मरीजों को कोरेंटाइन किया गया है। इन होटल और गार्डेन में रानीपुरा, चंदन नगर, दाऊदी नगर, टाटपट्टी बाखल, सिलावटपुरा, हाथीपाला, आजाद नगर, गुमास्ता नगर आदि के निवासियों को कोरेंटाइन किया गया है। जिससे कोरोना वायरस के बीमारी की विस्तार पर रोक लगाई जा सके। नगर की नामचीन होटल प्रेसीडेंट पार्क, टीसीएल गार्डेंन, किंग्स पार्क, मथुरा महल जैसी होटलों और गार्डेन में इन लोगों को ठहराया गया है। इंदौर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री विवेक श्रोत्रिय को जिला प्रशासन द्वारा कोरेंटाइन करने का जिम्मा दिया गया है। चर्चा के दौरान श्री विवेक श्रोत्रििय ने बताया कि फिलहाल इंदौर के 750 से अधिक संदिग्ध मरीजों को विभिन्न होटलों और मैरिज गार्डेन में कोरेंटाइन किया गया है। इन स्थानों पर सोशल डिस्टैंसिंग का कड़ाई से पालन किया जा रहा है। इन्हें सुबह-शाम चाय-नाश्ता और भोजन दिया जा रहा है। बच्चों के लिये विशेष रूप से दूध की व्यवस्था की गई है। जिला प्रशासन इन केन्द्रों पर ताजा भोजन बनवाकर पहुंचाने की व्यवस्था की है। जहां से भी प्राथमिक संदिग्ध व्यक्ति मिलते हैं उन्हें इन कमरों में रखा जा रहा है। हर एक केन्द्र का जिम्मा एक एसडीएम को सौंपा गया है। एक एसडीएम अपने क्षेत्र के दो-तीन केन्द्रों की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। इन संदिग्ध लोगों को चिकित्सीय सुविधा भी उपलब्ध कराई गई है। इनके ब्लड सेम्पल भी लिये गये हैं। कलेक्टर श्री मनीष सिंह द्वारा अपर कलेक्टर श्री पवन जैन को स्नेहलता गंज, बेटमा और गांधी नगर क्षेत्र का जिम्मा सौंपा गया है, वहीं अपर कलेक्टर श्री दिनेश जैन को उदापुरा क्षेत्र, मोती तबेला, सुखलिया का जिम्मा सौंपा गया है। अपर कलेक्टर श्री कैलाश वानखेड़े को मेडिकल गर्ल्स होस्टल, संवाद नगर, इकबाल कॉलोनी, अंबिकापुरी कालोनी का जिम्मा सौंपा गया है। कोई भी व्यक्ति कोरोना के संबंध में इन वरिष्ठ अधिकारियों को दूरभाष पर कोरोना के संबंध में जानकारी दे सकता है।
April 9, 2020 • Rajesh Jauhri • क्षेत्रीय

*जिले में 750 से अधिक कोरेंटाइन लोगों को मिल रही है सभी मूलभूत सुविधाएँ*
इंदौर 09 अप्रैल, 2020
 राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों को कोरेंटाइन किया जा रहा है। अभी तक 750 से अधिक लोगों को कोरेंटाइन किया गया है। जिले में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है और संक्रमितों की संख्या भी बढ़ रही है। प्रशासनिक मशीनरी इस संक्रमण को रोकने के लिये मैदान में जुट गई है। संदिग्ध मरीजों को कोरेंटाइन कर इंदौर के आलीशान होटलों और मैरिज गार्डन में कोरेंटाइन किया गया है। उन्हें सभी मूलभूत सुविधाएँ मिल रही हैं। समय पर चाय-नाश्ता, भोजन दिया जा रहा है। साफ-सफाई का विशेष ध्यान दिया जा रहा है। 
 जिला प्रशासन द्वारा होटल प्रेसीडेंट पार्क में 81, टीसीएल गार्डेन में 103, किंग्स पार्क गार्डेन में 27, मथुरा महल गार्डेंन में 67, गोकुल गार्डेन में 17, दस्तूर गार्डेन में 23, अक्षत गार्डेन में 36, ताराकुंज गार्डेंन में 25, मृदंग गार्डेन में 60, स्वास्तिक रिसोर्ट में 05, इंदौर इंस्टीट्यूट ऑफ लॉ मंड 75, श्री जी वाटिका में 13, गुरु अमरदास बैंक्येट हाल में 34, होटल रिजेंटा में 20, पुण्य गार्डेंन में 40, असरावदखुर्द होस्टल में 60 और हज हाउस सदर बाजार में 58 संदिग्ध मरीजों को कोरेंटाइन किया गया है। 
 इन होटल और गार्डेन में रानीपुरा, चंदन नगर, दाऊदी नगर, टाटपट्टी बाखल, सिलावटपुरा, हाथीपाला, आजाद नगर, गुमास्ता नगर आदि के निवासियों को कोरेंटाइन किया गया है। जिससे कोरोना वायरस के बीमारी की विस्तार पर रोक लगाई जा सके। नगर की नामचीन होटल प्रेसीडेंट पार्क, टीसीएल गार्डेंन, किंग्स पार्क, मथुरा महल जैसी होटलों और गार्डेन में इन लोगों को ठहराया गया है। इंदौर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री विवेक श्रोत्रिय को जिला प्रशासन द्वारा कोरेंटाइन करने का जिम्मा दिया गया है। 
 चर्चा के दौरान श्री विवेक श्रोत्रििय ने बताया कि फिलहाल इंदौर के 750 से अधिक संदिग्ध मरीजों को विभिन्न होटलों और मैरिज गार्डेन में कोरेंटाइन किया गया है। इन स्थानों पर सोशल डिस्टैंसिंग का कड़ाई से पालन किया जा रहा है। इन्हें सुबह-शाम चाय-नाश्ता और भोजन दिया जा रहा है। बच्चों के लिये विशेष रूप से दूध की व्यवस्था की गई है। जिला प्रशासन इन केन्द्रों पर ताजा भोजन बनवाकर पहुंचाने की व्यवस्था की है। जहां से भी प्राथमिक संदिग्ध व्यक्ति मिलते हैं उन्हें इन कमरों में रखा जा रहा है। हर एक केन्द्र का जिम्मा एक एसडीएम को सौंपा गया है। एक एसडीएम अपने क्षेत्र के दो-तीन केन्द्रों की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। इन संदिग्ध लोगों को चिकित्सीय सुविधा भी उपलब्ध कराई गई है। इनके ब्लड सेम्पल भी लिये गये हैं। 
 कलेक्टर श्री मनीष सिंह द्वारा अपर कलेक्टर श्री पवन जैन को स्नेहलता गंज, बेटमा और गांधी नगर क्षेत्र का जिम्मा सौंपा गया है, वहीं अपर कलेक्टर श्री दिनेश जैन को उदापुरा क्षेत्र, मोती तबेला, सुखलिया का जिम्मा सौंपा गया है। अपर कलेक्टर श्री कैलाश वानखेड़े को मेडिकल गर्ल्स होस्टल, संवाद नगर, इकबाल कॉलोनी, अंबिकापुरी कालोनी का जिम्मा सौंपा गया है। कोई भी व्यक्ति कोरोना के संबंध में इन वरिष्ठ अधिकारियों को दूरभाष पर कोरोना के संबंध में जानकारी दे सकता है।