ALL ब्रेकिंग क्षेत्रीय राज्य देश विदेश राजनीति मनोरंजन स्वास्थ्य
महामारी पर आस्था भारी बड़ी संख्या में अमावस्या के दिन लोग पहुंचे नर्मदा स्नान करने भगवान ओंकारेश्वर ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शन कर लगाई ओमकार पर्वत की परिक्रमा तांत्रिक क्रियाओं को भी दिया अंजाम 
October 16, 2020 • ललित दुबे ओंकारेश्वर • क्षेत्रीय

 

महामारी पर आस्था भारी छह माह के बाद उमड़ा आस्था का सैलाब बड़ी संख्या में लोगों ने ओंकारेश्वर पहुंचकर के नर्मदा स्नान किया भगवान ओंकारेश्वर ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने के बाद लगाई ओंकार पर्वत की परिक्रमा शुक्रवार को अधिक मास के समाप्ति पर बड़ी संख्या में मालवा एवं निमाड़ से लोग नर्मदा स्नान करने ओकारेश्वर पहुंचे नर्मदा नदी के घाटों पर स्नान करने के पश्चात तांत्रिक क्रियाओं को अंजाम दिया भगवान ओंकारेश्वर ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने के बाद ओकारा पर्वत की परिक्रमा लगाकर वापस अपने घर वापस लौटे पर्व को देखते हुए ओंकारेश्वर बांध से टरबाइन संचालित कर पानी छोड़ा गया नर्मदा नदी का जलस्तर घाटों पर सामान्य रहने से लोगों को स्नान में किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नहीं हुई लोगों ने जमकर स्नान किया श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला गुरुवार से ही शुरू हो गया था शुक्रवार सुबह तक नर्मदा नदी के घाटों पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने सूर्य उदय होने से पहले ही तांत्रिक क्रियाओं को अंजाम देकर नर्मदा स्नान किया नर्मदा के जल में खड़े होकर लोगों पर बाहरी बाधाओं को मुक्ति दिलाई उल्लेखनीय है कि इस वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण प्रशासन ने नर्मदा नदी के घाटों पर दिनांक 22 मार्च से स्नान पर प्रतिबंध लगा दिया था उसके बाद दिनांक 17 अक्टूबर को बड़ी संख्या में लोग नर्मदा स्नान करने नर्मदा के घाटों पर एकत्रित हुए प्रशासन ने भी श्रद्धालुओं की संख्या को देखते हुए किसी भी व्यक्ति को नर्मदा स्नान से नहीं रोका गया 6 माह के बाद यह पहली बार देखने में आया कितनी बड़ी संख्या में लोग नर्मदा स्नान करने पहुंचे थे पुनासा एसडीएम चंद्र सिंह सोलंकी नर्मदा नगर एसडीओपी राकेश पेंद्रो के निर्देशों के बाद ओंकारेश्वर थाना प्रभारी जगदीश पाटीदार नर्मदा नदी के घाटों पर मुख्य चौराहों पर पुलिस बल तैनात किया था उतारेश्वर नगर परिषद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी दिनेश मिश्रा अमावस्या पर आने वाले श्रद्धालुओं सुरक्षा के लिए नर्मदा नदी के घाटों अपने विभाग के कर्मचारियों को पहले से ही अमावस्या के दिन तैनात रहने के निर्देश जारी कर दिए थे