ALL ब्रेकिंग क्षेत्रीय राज्य देश विदेश राजनीति मनोरंजन स्वास्थ्य
ओंकारेश्वर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए निकली भगवान भोलेनाथ की सवारी
July 6, 2020 • ललित दुबे ओंकारेश्वर • क्षेत्रीय

ओंकारेश्वर ( नि प्र ) सावन के प्रथम सोमवार ज्योतिर्लिंग भगवान ओकारेश्वर की प्रथम सवारी कोविड-19 के जिला प्रशासन के निर्देशों के तहत निर्धारित समय श्री जी ज्योतिर्लिंग मंदिर प्रांगण से 4:00 बजे निकली लॉकडाउन सोशल डिस्टेंस के तहत निकाली गई भगवान की पालकी कोटि तीर्थ प्रमुख घाट पहुंची जहां वैदिक ब्राह्मणों के गगनभेदी मंत्रोच्चार के साथ पंडित राजराजेश्वर दिक्षित द्वारा पूजा अभिषेक नर्मदा तट पर रजत प्रतिमा का कराया गया। इधर ममलेश्वर महादेव की पालकी भी निर्धारित समय में निकली तथा पालकी गोमुख घाट पर पंडित जगदीश उपाध्याय द्वारा दूध से अमृता अभिषेक रजक प्रतिमा का कराया गया दोनों सवारी का नौका विहार करने के बाद शिव भक्तों के साथ पालकी को ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में ले जाया गया। प्रतिवर्ष होने वाले लाव लश्कर को खंडवा कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर पुनासा एसडीओ श्रीमती ममता खेड़े पुनासा राकेश पेंड्रॉ एसडीओपी. तहसीलदार उदय मंडलोई. थानाप्रभारी जगदीश पाटीदार अन्य प्रशासनिक अधिकारी सावन के प्रथम सोमवार व्यवस्थाओं की कमान संभाले हुए थे। प्रथम सोमवार आने वाली कावड़ यात्रा प्रशासन के सख्त रवैया के चलते कावड़िया ओकारेश्वर नहीं पहुंचे ना ही यहां से किसी प्रकार कावड़ यात्री कावड़ लेकर रवाना हुए सुरक्षा की दृष्टि से श्रीजी ज्योतिर्लिंग मंदिर प्रशासन द्वारा टोकन सिस्टम के माध्यम से दो हजार लोगों के प्रति दिन दर्शन की व्यवस्था के इंतजाम किए गए जो आधार कार्ड नहीं लाए उन्हें वापस लौटा दिया गया सावन के प्रथम सोमवार 2000 शिव भक्तों ने सुबह से शाम तक दर्शन का पुण्य लाभ दिया नर्मदा नदी में प्रतिबंध के चलते घाटों पर सन्नाटा पसरा रहा ज्योतिर्लिंग मंदिर ओकारेश्वर के सहायक कार्यपालन अधिकारी कंट्रोल रूम तथा थाना मांधाता के कंट्रोल रूम में सुनील भावसार कंट्रोल रूम से कैमरे के माध्यम से निगरानी बनाए हुए थे क्या कहते हैं जिम्मेदार __

कोविड-19 को मध्य नजर रखते हुए सोशल डिस्टेंस सेनीटाइजर थर्मल स्किन कराने के बाद श्रद्धालुओं को ओकारेश्वर प्रवेश दिया गया 2,000 से अधिक श्रद्धालु सोमवार को आने की संभावना को देख प्रशासन आगे श्रद्धालुओं की संख्या टोकन बढ़ाने पर विचार वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर करेगे। निकलने वाली सवारी में केवल मंदिर ट्रस्ट के कर्मचारी ही शामिल होंगे--                   श्रीमती ममता खेड़े एसडीएम पुनासा